बिहार विधानसभा चुनावों के लिए आज दूसरे चरण में वोट डाले जा रहे हैं। मतदान से पहले मतदाताओं ने सब को सुना देखा और परखा है ऐसे में हर रैली में जुटी भीड़ किसके पक्ष में अपना फैसला सुनाएगी यह बात तो 10 नवम्बर को पता चलेगी। हालांकि इन सब के बीच लगातार दलों के नेता अपनी बातें जनता तक पहुंचा रहे हैं।

सोशल मीडिया ने नेताओं का काम कोरोना काल मे काफी हद तक आसान बना दिया है। प्रचार समाप्त होने के बाद भी नेताओं मतदाताओं को सोशल मीडिया से लुभाने में कोई कसर नही छोड़ना चाहते हैं। इसी क्रम में सोमवार शाम तेजस्वी यादव ने नौकरी संवाद नाम से एक कार्यक्रम को सोशल मीडिया के जरिये संबोधित किया।

इस कार्यक्रम के दौरान तेजस्वी ने अपने 10 लाख नौकरी देने के वादे पर विपक्ष के सवालों का जवाब दिया। तेजस्वी ने विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि नौकरी देने में पैसे की कमी को आड़े नही आने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो मंत्रियों और विधायकों की सैलरी काट कर पैसे दिए जाएंगे। इसके साथ ही तेजस्वी ने कहा कि उनका फोकस पढ़ाई, कमाई और दवाई पर होगा।

रैलियों में जुटी भीड़ पर बहस जारी, जदयू बोली- तेजस्वी भीड़ प्रबंधन कर रहे लेकिन वोट में बदलना मुश्किल

पीएम मोदी के बाद पप्पू ने राहुल-तेजस्वी से पूछा- लॉकडाउन में कहां थे दोनो युवराज, पढ़ें

बिहार चुनाव: JDU सांसद लल्लन सिंह ने तेजस्वी के 10 सवालों के जवाब में दागा 1 सवाल, जाने