6 अक्तूबर को भाजपा उपाध्यक्ष गांदरबल जिले के नुनार के गुलाम कादिर राथर पर आतंकियों ने हमला किया था जिसमें जवाबी कार्रवाई में आतंकी शबीर ए. शाह मारा गया और कार्रवाई में एक कांस्टेबल मोहम्मद अल्ताफ की गोली लगने से मृत्यु हो गई थी. इस मामले में जम्मू कश्मीर पुलिस के हाथ बड़ी कामियाबी लगी है. उन्होंने इस मामले में अस्पताल के सिक्योरिटी गार्ड को गिरफ्तार किया है.

प्रेस कांफ्रेंस को सम्भोदित करते हुए गांदरबल के एसएसपी के. पोसवाल ने बताया की जांच के दौरान अस्पताल के सिक्योरिटी गार्ड के रूप में काम कर रहे क़ैसर अहमद शेख, हिज़बुल मुजाहिद्दीन के सक्रिय सदस्य का पता चला। उसके दो सहयोगी जो SKIMS में ATM गार्ड और SMHS में प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड के रूप में काम कर रहा था को गिरफ्तार किया गया है.

एसएसपी के. पोसवाल ने आगे बताया युवाओं को आतंकवाद में शामिल करने के लिए मोबाइल ऐप और सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया। जांच से पता चला कि वो हमले का प्लान बना रहे थे। वे पाक में अपने सहयोगियों के संपर्क में थे। हमने 2 पिस्तौल, मैगज़ीन, गोला-बारूद, डेटोनेटर और पाकिस्तानी झंडा बरामद किया है.

आपको बतादें की बीते 29 अक्टूबर को आतंकवादियों ने कुलगाम में 3 भाजपा कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी थी. लश्कर-ए-तैयबा के मुखौटा संगठन माने जाने वाले ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) ने इन हत्याओं की जिम्मेदारी ली है। सोशल मीडिया अकाउंट पर डाले संदेश में टीआरएफ ने कहा कि ‘‘कब्रिस्तान भर जायेंगे।’’

जम्मू-कश्मीर में तैनात सैन्य उड़ान इकाई ने वार्षिक उड़ान सुरक्षा ट्रॉफी जीती

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ़्ती ने अनुच्छेद 370 हटने तक चुनाव नहीं लड़ने का किया फैसला

जम्मू एवं कश्मीर में सेब की खरीद के लिए मार्केट इंटरवेंशन स्कीम के विस्तार को मिली मंजूरी, जानें