समस्तीपुर में महागठबंधन पर बरसे पीएम मोदी, कहा-अपने निहित स्वार्थ को समर्पित पारिवारिक गठबंधन हैं

बिहार विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण के प्रचार का शोर आज शाम थम जाएगा। इससे पहले आज का दिन बिहार में रैलियों का दिन है। हर दल के नेता ज्यादा से ज्यादा सभा और रैलियां कर जनसंपर्क जुटाने में लगे हुए हैं। इसी क्रम में आज पीएम मोदी भी बिहार में हैं

बिहार विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण के प्रचार का शोर आज शाम थम जाएगा। इससे पहले आज का दिन बिहार में रैलियों का दिन है। हर दल के नेता ज्यादा से ज्यादा सभा और रैलियां कर जनसंपर्क जुटाने में लगे हुए हैं। इसी क्रम में आज पीएम मोदी भी बिहार में हैं

आज उनकी कुल तीन रैलियां हैं। इनमे से पहली रैली जहां छपरा में हुई वहीं दूसरी रैली समस्तीपुर में हुई। दोनो ही रैलियों में पीएम ने महागठबंधन अपर जमकर हमला बोला। पढ़ें मुख्य बातें

आज अगर हर आकलन, हर सर्वे, NDA की जीत का दावा कर रहा है तो उसके पीछे ठोस कारण हैं। आज एनडीए की फिर से सरकार वो बहनें बना रही हैं, जिनको हमारी सरकार ने, नितीश बाबू की सरकार ने सुशासन से, सुविधाओं से जोड़ा है, अवसरों से जोड़ा है:पीएम मोदी


वो जीविका दीदियां, जो आज आत्मनिर्भर परिवार और आत्मनिर्भर बिहार की प्रेरणा बन रही हैं, वो NDA को ताकत दे रही हैं।  घर-घर, स्कूल-स्कूल बने शौचालयों ने जिन बहनों-बेटियों को गरिमा दी, अंधेरे के इंतज़ार से मुक्ति दी, वो NDA की सरकार बना रही हैं: पीएम मोदी


जिन बहनों को पीने के पानी के संघर्ष से मुक्ति मिली वो NDA के पक्ष में वोट डाल रही हैं। जीवन भर धुएं में उलझती उन बहनों का वोट NDA के लिए है, जिनके घर में उज्जवला का सिलेंडर पहुंचा है: पीएम मोदी


बिहार के बेटे-बेटियां, जिन्हें आज मुद्रा लोन मिल रहा है, बैंकों ने जिनके लिए दरवाजे खोल दिए हैं, जिन्हें IIT-IIM-एम्स मिल रहा है, वो आज अपने उज्जवल भविष्य के लिए NDA पर भरोसा कर रहे हैं: पीएम मोदी

जिसको आज अपना पक्का घर मिल रहा है,आयुष्मान भारत योजना से मुफ्त इलाज मिल रहा है,कोरोना काल में दीवाली-छठ पूजा तक जिनको मुफ्त राशन मिल रहा हैजो जरूरी सुविधाओं के लिए भटकने पर मजबूर थे


आज जिनके पास सरकार खुद पहुंच रही है, बिहार का ऐसा हर परिवार आज NDA की जीत का आधार बना है: पीएम मोदी

बिहार ने पूरे विश्व को लोकतंत्र का पाठ पढ़ाया है।बिहार की धरती से ही दुनिया में लोकतंत्र की कोपल निकली थी।जब जनता के हित में फैसले होते हैं, जब फैसलों में जनता की सहभागिता होती है, तभी लोकतंत्र भी मजबूत होता है: पीएम मोदी


आज देश में एक तरफ लोकतंत्र के लिए पूर्ण रूप से समर्पित, एनडीए का गठबंधन है। वहीं दूसरी तरफ अपने निहित स्वार्थ को समर्पित पारिवारिक गठबंधन हैं: पीएम मोदी


यहां जंगलराज के युवराज को तो आप देख ही रहे हैं।कांग्रेस पार्टी का दायरा भी अब सिर्फ अपने परिवार तक ही सीमित होकर रह गया है: पीएम मोदी


सिर्फ और सिर्फ अपने-अपने परिवार के लिए काम कर रही इन पारिवारिक पार्टियों ने आपको क्या दिया?बड़े-बड़े बंगले बने, तो किसके बने?महल बने, तो किसके बने? बड़ी-बड़ी करोड़ों की गाड़ियां आईं, गाड़ियों को काफिला बना, तो किसका बना: पीएम मोदी


NDA का मंत्र है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास। एनडीए सरकार का निरंतर ये प्रयास रहा है कि कोई व्यक्ति, कोई भी क्षेत्र विकास के लाभ से छूट ना जाए।सुविधा, सम्मान और सुअवसर में किसी के साथ भी कोई भेद नहीं होना चाहिए। यही तो सुशासन का भी लक्ष्य है: पीएम मोदी


आज समस्तीपुर हो, बेगुसराय हो, खगड़िया हो, ये पूरा क्षेत्र आत्मनिर्भरता के इसी संकल्प का नेतृत्व करने के लिए तैयार है। पीएम पैकेज के तहत आज यहां ग्रामीण सड़कों, नेशनल हाईवे और रेलवे से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष काम किया जा रहा है: पीएम मोदी


केंद्र सरकार ने कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए एक लाख करोड़ रुपए का नया फंड बनाया है।इससे यहां के किसानों, मछुवारों, पशुपालकों को भी बहुत लाभ होगा: पीएम मोदी


जिनकी नीयत खराब हो, जिनकी नीति सिर्फ गरीबों का धन लूटने की हो,जो निर्णय सिर्फ अपने स्वार्थ को ध्यान में रखते हुए लेते हों, वो ऐसे हर प्रयास का विरोध ही करेंगे। आज देश में कृषि क्षेत्र हो या देश की सुरक्षा से जुड़े काम, ये हर बात का विरोध कर रहे हैं: पीएम मोदी


याद रखिए, जब कोरोना का संकट सबसे ज्यादा था, जब पूरा बिहार कोरोना से लड़ रहा था, तब ये लोग कहां थे?इन्हें आपके विकास से नहीं, सिर्फ अपने विकास से लेना-देना है। यही इनकी सच्चाई है, यही इनका तौर-तरीका है, यही इनकी ट्रेनिंग है: पीएम मोदी


आप मुझे बताइए,जंगलराज की विरासत, जंगलराज के युवराज क्या बिहार में उचित माहौल का विश्वास दे सकते हैं? जो वामपंथी, नक्सलवाद को हवा देते हैं, जिनका उद्योगों और फैक्ट्रियों को बंद कराने का इतिहास रहा है, वो निवेश का माहौल बना सकते हैं क्या: पीएम मोदी


जननायक कर्पूरी ठाकुर जी इमरजेंसी के दिनो के बाद जब मुख्यमंत्री बने तो उन्होने एक इंटरव्यू दिया था।उन्होने उस इंटरव्यू में कहा था- सत्ता के आसपास अवसरवादियों को शरण या तरजीह बिल्कुल नहीं मिलनी चाहिए। वर्ना वो मुझे नहीं तो मेरे बेटे या संबंधियों को भ्रष्ट करेंगे:पीएम मोदी


कर्पूरी ठाकुर जी के बाद, बिहार के लोगों ने इस बात को 100 फीसदी सच होते देखा है: पीएम मोदी

Leave a Reply

Your email address will not be published.