गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का आज एक अस्पताल में निधन हो गया। मिली जानकारी के मुताबिक उनका निधन हार्ट अटैक की वजह से हुआ है। वह 92 वर्ष के थे। आपको बता दें कि केशुभाई पटेल कुछ दिनों पहले कोरोना से संक्रमित हो गए थे हालांकि वह इससे लड़ाई जीत ठीक हो गए थे।


गुजरात मे केशुभाई पटेल दो बार मुख्यमंत्री बनें लेकिन दोनों ही बार वह अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा नही कर सके।  वह जनसंघ के संस्थापकों में से एक थे। वह पहली बार 1977 मे राजकोट से लोकसभा सांसद चुने गए थे। हालाकि उन्होने बाद में इस्तीफा दे दिया और बाबूभाई पटेल की जनता मोर्चा सरकार में 1978 से 1980 तक कृषि मंत्री रहे। 


पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री बनने पर कहा भी था कि सूबे की असल कमान केशुभाई के हाथ में ही है। उन्हें बीजेपी का रथ हांकने वाला सारथी करार दिया था। पीएम मोदी उन्हें अपना राजनीतिक गुरु भी मानते थे।