बिहार विधानसभा चुनावों के लिए अब प्रचार का दौर तेज हो गया है। हर दल के स्टार प्रचारक अब मैदान में उतर चुके हैं। विरोधियों पर आरोपों के शब्दबाण चला मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए कोई भी कसर किसी भी स्तर से कोई भी दल या नेता छोड़ने को तैयार नही है।

इसी बीच मोकामा में एक चुनावी रैली के दौरान राम-रावण का संदर्भ भी दिया गया। इस संदर्भ में जहां वर्तमान विधायक और राजद प्रत्याशी को रावण बताया गया वहीं जदयू प्रत्याशी की तुलना राम से की गई।


दरअसल जदयू सांसद और नीतीश के करीबी माने जाने वाले ललन सिंह मोकामा से जदयू उम्मीदवार राजीव लोचन के पक्ष में एक चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने दबंग और बाहुबली छवि के राजद उम्मीदवार अनंत सिंह को रावण बताया वहीं साफ सुथरी छवि के माने जाने वाले जदयू उम्मीदवार को राम की उपाधि दी।

जीत के बाबत पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि राम और रावण के बीच लड़ाई में किसकी जीत होती है यह बताने की आवश्यकता नही है।


ललन सिंह के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि जब तक अनंत सिंह जदयू में थे वह राम थे और अब राजद में आते ही उन्हें रावण बताया जा रहा है? आपको बता दें कि अनंत सिंह दो बार जदयू के टिकट पर विधायक बने और 2015 में निर्दलीय लड़ते हुए उन्होंने जीत हासिल की थी। अब इस चुनाव में उन्होंने राजद के दामन थामा है। देखना है इन सभी विवादों के बीच नतीजे बदलते हैं या अनंत सिंह फिर जीत हासिल करते हैं।