कोरोना काल मे शहरों से अपने गांव लौटते मजदूरों को देख किसे उनकी स्थिति पर तरस नही आया होगा। कौन इनकी बदकिस्मती पर न रोया होगा लेकिन एक सत्ता में बैठे लोग हैं जिन्हें न अपने बयानों के लिए खेद होता है और न ही अपने कुछ न करने का अफसोस। यही वजह है कि बड़ी ही आसानी से बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी यह कह गए कि बिहार के लोगों को पलायन करने में मजा आता है?


बिहार विधानसभा चुनावों की बढ़ी हलचल के बीच सुशील मोदी का एक इंटरव्यू इन दिनों वायरल है। इसमें सुशील मोदी एक सवाल के जवाब में कहते हैं, ” बिहार की एक परंपरा रही है कि बिहार के लोगों को बाहर जाकर काम करने में एक आनंद आता है, उनको अच्छा लगता है। किसी को ज्यादा कमाना हो दो जून की रोटी से अधिक कमाना हो तो बाहर जाता है। सुशील मोदी के इस वीडियो को अब शेयर करते हुए राजद ने तीखा हमला बोला है।


राष्ट्रीय जनता दल के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा गया, “क्या इनसे आप स्थिति सुधारने की उम्मीद लगाए बैठे हैं, जो 15 साल बाद इस बेशर्मी से सच से मुकर जाएँ? बिहार के लोगों को पलायन करने में मज़ा आता है! ये मानसिक दिवालिए आजकल आत्मनिर्भर बनने की नसीहत दे रहे हैं! मतलब खोट इनकी सरकार में नहीं, बिहारियों में है जो आत्मनिर्भर नहीं बनते! देखें वीडियो-