जापान के इतिहास के सबसे लम्बे समय तक प्रधानमंत्री रहे शिंजो आबे ने अपनी कैबिनेट सहित इस्तीफा दे दिया. हाल ही में आबे ने बिगड़ते स्वास्थय के कारण प्रधानमंत्री पद छोड़ने का ऐलान किया था. सिंजो आबे के बाद अब योशिहिदे सुगा प्रधानमंत्री की गद्दी संभालेंगे.

योशिहिदे सुगा को लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने अपना अध्यक्ष भी चुन लिया है. अब उन्हें संसदीय बोर्ड के सामने अपनी प्रधानमंत्री की उम्मीदवारी जीतनी है जो पहले से ही उनके पक्ष में है. सुगा फिलहाल शिंजो आबे का दाहिना हाथ माने जाते थे. वह चीफ कैबिनेट सेक्रेटरी (Chief Cabinet Secretary) का पदभार संभाल रहे थे. सुगा 2006 से ही सिंजो आबे के साथ काम कर रहे है. 2012 में शिंजो आबे के जीत में सुगा का बहुत बड़ा योगदान माना जाता है.

आपको ये बतादें की सुगा के लिए प्रधानमंत्री की कुर्सी आसान नहीं होगी. प्रधानमंत्री बनते ही सबसे पहले उन्हें कोरोना महामारी से लड़ना होगा. उसके बाद जापान के आर्थिक हालत बेहतर बनाने होंगे. यही नहीं पूर्वी चीन सागर (East China Sea) में चीन से चल रही तनातनी का मामला भी इनके मुख्य बिंदुओं पर रहेगा. साथ ही अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों ( Tokyo Olympics) के सफल आयोजन का दारोमदार भी इनके कंधो पर रहेगा.