पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का आज नई दिल्ली के अखिल भारतीय अयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। वह पिछले कुछ दिनों से लगातार बीमार चल रहे थे। उनका इलाज पहले पटना एम्स में हुआ और बाद में उन्हें दिल्ली एम्स में दाखिल कराया गया था। उन्हें सांस लेने संबंधी तकलीफ थी। पिछले कुछ दिनों से वह वेंटीलेटर सपोर्ट पर थे।


दिल्ली एम्स में रघुवंश प्रसाद सिंह का इलाज 4 अगस्त से जारी थी। पिछले 4-5 दिनों में उनकी स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही थी और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। पारिवारिक सूत्रों ने उनके निधन से पहले सुबह भी यही जानकारी दी थी। उनका इलाज एम्स में चार डॉक्टरों की टीम कर रही थी।


आपको बता दें कि रघुवंश बाबू ने हाल ही में राजद से अपना इस्तीफा दिया था। वह लालू के बेहद करीबी और राजद के संस्थापक सदस्यों में से एक थे। हालांकि लालू ने उनके इस्तीफे के लिए लिखी चिट्ठी पर कहा था कि आप कहीं नही जा रहे समझ लीजिए। इसी बीच रघुवंश बाबू ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार को चिट्ठी लिख कुछ मुद्दों पर उनका ध्यान दिलाया था। खबर यह भी थी कि रघुवंश बाबू के बड़े बेटे को जदयू विधान परिषद भेज सकता है।