राष्ट्रीय जनता दल को आज एक और तगड़ा झटका लगा जब उसके दिग्गज नेता भोला राय ने नितीश की पार्टी जनता दल यूनाइटेड का हाथ थाम लिया. दो दिन में राजद के लिए ये दूसरा बड़ा झटका है. इससे पहले लालू के बेहद करीबी माने जाने वाले दिग्गज नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी कल पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

भोला राय ने सांसद ललन सिंह की मौजूदगी में जदयू की सदस्यता ग्रहण की. भोला राय के साथ-साथ राजद और कांग्रेस के कई नेता जदयू में शामिल हुए. मीडिया से बात करते हुए ललन सिंह ने लालू के परिवार पर निशाना साधते हुए कहा की राजद एक ऐसी पार्टी है जहां वरिष्ट नेताओं का कोई सम्मान नहीं होता है. यही इस पार्टी का इतिहास रहा है. वहीँ एक तीर से दो शिकार करते हुए ललन सिंह ने रघुवंश प्रसाद सिंह को जदयू में शामिल होने की भी पेशकश कर दी. उन्होंने कहा की अगर वह हमारी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाते है तो उनके लिए हमारे दरवाज़े खुले है.

आपको बतादें की भोला राय भी लालू के बेहद नज़दीकी माने जाते रहे है. यही नहीं, यह वही नेता है जिन्होंने लालू-राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. यही नहीं, तेजस्वी यादव के डिप्टी सीएम बनने में भी भोला राय ने बड़ी भूमिका अदा की थी.