कोरोना वायरस से जुड़ी बुरी ख़बरों के आने का दौर लगातार जारी है। एक तरफ जहां नए संक्रमित मरीजों की संख्या में भारी उछाल आया है और प्रतिदिन 90 हजार से ज्यादा केस आ रहे हैं वहीं कोरोना वैक्सीन को लेकर भी अब बुरी खबर आई है। खबर के मुताबिक सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड का ट्रायल रोक दिया है।


जानकारी के मुताबिक अस्ट्राजेनेका के साथ करार के तहत परीक्षण और बाद में एक अरब डोज तैयार करने का कॉन्ट्रैक्ट करने वाले सीरम इंस्टिट्यूट को यह ट्रायल ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के उस नोटिस के बाद रोकना पड़ा जिसमे कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। डीसीजीआई ने एसआईआई से इस नोटिस में पूछा था कि उसने यह क्यों नही बताया कि अस्ट्राजेनेका ने वैक्सीन का ट्रायल रोक दिया है।


नोटिस जारी करने के संबंध में डीसीजीआई की तरफ से कहा गया है कि एसआईआई तुरंत जवाब दे और अगर जवाब नही मिलता है तो यह माना जायेगा कि कॉण्य के पास सफाई में कहने को कुछ नही है और सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। वहीं कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा कि हम हालात की समीक्षा कर रहे हैं और जब तक अस्ट्राजेनेका ट्रायल दुबारा शुरू नही करती तब तक हम भी इसे रोक रहे हैं। हम डीसीजीआई के निर्देशों का पालन करेंगे।


गौरतलब है कि यह ट्रायल उस जानकरी के सामने आने के बाद रोक दिया गया जिसमें एक व्यक्ति के गंभीर रूप से बीमार होने की बात कही गई थी। हालांकि यह बीमारी क्या थी और कितनी गम्भीर थी इस पर कोई जानकारी नही आई थी। डब्लूएचओ ने इस ट्रायल के रोकने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि क्लिनिकल ट्रायल में सुरक्षा सर्वोपरि है। साथ ही इस निलंबन को सामान्य बताया है।