कोरोना वायरस के इस दौर में हर दिन बुरी और नेगेटिव ख़बरों के आने का सिलसिला जारी है। संक्रमण से लेकर मृतकों तक के आंकड़े हर दिन देश और दुनिया मे तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन इन्ही ख़बरो के बीच कुछ खबरें ऐसी आती हैं जो न सिर्फ मन को सुकून देती हैं बल्कि सकरात्मकता के साथ यह भी बता जाती हैं कि मेहनत से हर मुकाम और हर मंजिल को पाया जा सकता है।

ऐसी ही एक सकारात्मक और अच्छी खबर आई है मध्यप्रदेश के बैतूल से। यहाँ एक दंपत्ति ने कोरोना काल मे लगे लॉकडाउन के समय का सदुपयोग कर अपनी मेहनत और मजदूरी से दो मंजिला मकान सिर्फ 49 दिनों में खड़ा कर दिया। अब इस दंपत्ति से पीएम नरेंद्र मोदी खुद 12 सितम्बर को बात कर इनके हौसले को सलाम करेंगे।

दरअसल बैतूल जिले के उड़दन गांव के रहने वाले दंपत्ति सुशीला और सुभाष को पीएम आवास योजना के तहत डेढ़ लाख की सहायता मिली थी। इस राशि से बमुश्किल दो कमरे का एक मकान तैयार होता लेकिन इन दोनों ने खुद मेहनत करने की ठानी और बाहरी मजदूरों से काम नही कराया। 49 दिन लगातार मेहनत करते रहे और मजदूरी से बचे पैसों से तीन कमरे, दालान और किचन सहित दो मंजिला आकर्षक आवास तैयार कर दिया।