शिवसेना नेता संजय राउत और अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच बढ़ी तल्खी के बाद बीएमसी द्वारा अभिनेत्री कंगना के ऑफिस गिराए जाने के मामले में शिवसेना घिरती नजर आ रही है। सुशांत सिंह राजपूत केस मामले में पहले से घिरी शिवसेना के लिए यह दूसरा बड़ा झटका है। अब इस वैवद पर विपक्षी सहित अन्य दलों के नेताओं की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है।


ख़बरों के मुताबिक शिवसेना नेतृत्व के इस फैसले से उसके साथी दल रांकपा के सुप्रीमो शरद पवार को भी आपत्ति है। वह इस फैसले से नाखुश हैं और इसी वजह से आज शिवसेना अध्यक्ष औए सीएम उद्धव ठाकरे के आवास पर बैठक हुई। इसके अलावा कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भी एक ट्वीट के द्वारा राज्य की उद्धव सरकार पर हमला बोला।

एक ट्वीट में संजय निरुपम ने लिखा,”कंगना का ऑफिस अवैध था या उसे डिमॉलिश करने का तरीका ?क्योंकि हाई कोर्ट ने कार्रवाई को गलत माना और तत्काल रोक लगा दी।पूरा एक्शन प्रतिशोध से ओत-प्रोत था।लेकिन बदले की राजनीति की उम्र बहुत छोटी होती है।कहीं एक ऑफिस के चक्कर में शिवसेना का डिमॉलिशन न शुरु हो जाए !”

बीजेपी नेता प्रवेश साहिब सिंह ने ट्वीट करते हुए शिवसेना को चूहा सेना कहा है। उन्होंने संजय राउत के बारे में लिखा कि संजय राउत ने कंगन पहन लिए। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा है, आज उसने कुछ “ईंट” खोया है। और तुमने अपनी सारी “इज़्ज़त”। अब आप ही सोचिए “ईंट” बड़ी है या “इज़्ज़त”।