कोरोना वायरस से शुरुआती लड़ाई में पिछड़ने की वजह से बदनामी झेल चुका बिहार अब कई राज्यों से आगे निकल चुका है। इस राज्य में न सिर्फ नए संक्रमित मरीजों के आंकड़ों में कमी आई है बल्कि टेस्टिंग में तेजी और रिकवरी दर के आंकड़ों में भी इस राज्य ने कइयों को मात दे दी है।
राज्य सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों की बात करें तो राज्य में टेस्टिंग का आंकड़ा आज 1.50 लाख(प्रतिदिन) को पार कर गया है।

पिछले 24 घंटों में हुए कुल सैम्पल्स की बात करें तो राज्य में 1,51,033 सैम्पल्स की जांच की गई।रिकवरी रेट भी देश के कई अन्य राज्यों से बेहतर स्थिति में पहुंचते हुए अब 88.24 फिसदी पर जा पहुंची है। अब तक कुल सैंपल जांच की बात करें तो राज्य में 40,22,766 सैम्पल्स की जांच की जा चुकी है। संक्रमितों का कुल आंकड़ा 1,47,658 पर जा पहुंचा है।


बिहार में कोरोना को अब तक 1,30,300 लोग मात देकर घर वापस लौट चुके हैं।कुल सक्रिय मरीजों की संख्या अब 16,603 रह गई है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कुल 1,797 नए मामले सामने आए हैं। वहीं इस दौरान कुल 1,924 मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट गए। मृतकों की संख्या की बात करें तो 753 लोगों ने इस महामारी की वजह से अपनी जान बिहार में गंवाई हैं।

हालांकि स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मृत्यु दर पर कहा कि कई बड़े राज्यों से यह कम है। उन्होंने लिखा,” कोरोना हार रहा है, बिहार जीत रहा है | 88 प्रतिशत के साथ देश में सर्वाधिक रिकवरी रेट बिहार का, 1.5 लाख के साथ देश में सर्वाधिक जांच  प्रतिदिन बिहार में, बड़े राज्यों में 0.5 प्रतिशत के साथ सबसे कम मृत्यु दर बिहार में …..।