सुशांत सिंह राजपूत केस मामले में हर दिन नए एंगल नई बात और नए राज के खुलने का सिलसिला जारी है। इस केस में अभी तक पुलिस, सीबीआई, नारकोटिक्स विभाग की एंट्री हो चुकी है। इस केस में पहली गिरफ्तारी कल ड्रग्स के एंगल को लेकर ही की गई। एक के बाद एक धड़ाधड़ तीन गिरफ्तारियां हुईं। इस केस में गिरफ्तारी और एक के बाद एक जुड़ती कड़ियों के बीच यह लगभग साफ है कि नारकोटिक्स विभाग की जांच के बाद बहुत कुछ स्पष्ट हो जाएगा।


इन गिरफ्तारियों और खुलासों के बीच लोगों के बीच यह दिलचस्पी है कि आखिर नारकोटिक्स विभाग की टीम में वह कौन अधिकारी है जिसे इस केस का जिम्मा दिया गया है? क्या रहा है ट्रैक रिकॉर्ड? चलिए हम बता देते हैं। इस केस की जांच कर रहे हैं एक तेज तर्रार आईपीएस अधिकारी समीर वानखेड़े। इनके ट्रैक रिकॉर्ड को देख कर बॉलीवुड के कई बड़े लोगों की टेंशन बढ़नी लाजमी है। 


समीर 2004 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। उनकी पहली पोस्टिंग छत्रपति शिवाजी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बतौर कस्टम अधिकारी हुई थी। इसके बाद उनकी काबिलियत और सफलता को देखते हुए उन्हें आंध्रप्रदेश और बाद में दिल्ली भेजा गया। उन्हें ड्रग्स और नशे के क्षेत्र का एक्सपर्ट माना जाता है। वह अपने करियर में अभी तक 17 हजार करोड़ से ज्यादा नशीले पदार्थ और ड्रग्स के रैकेट का पर्दाफ़ाश कर चुके हैं। 


समीर वानखेड़े के जाँच का जिम्मा संभालने के बाद से बॉलीवुड में खलबली मची हुई है। माना जा रहा है कि जो बड़े लोग इसमें शामिल हैं उनमें हड़कंप हैं। समीर के बारे में एक बात लोकप्रिय है कि वह बॉलीवुड और नशे के कॉकटेल के हमेशा खिलाफ रहे हैं। ऐसे में उन्हें सुशांत केस के रास्ते ड्रग्स और नशे में लिप्त बड़ी मछलियों तक पहुंचने में शायद ही ज्यादा वक्त लगे। तीन लोगों की गिरफ्तारी इस बात की तस्दीक भी कर रही है। उम्मीद है न्याय होगा और समीर सुशांत को न सिर्फ न्याय दिलाएंगे बल्कि बॉलीवुड के नशेड़ियों और ड्रग्स के सौदागरों के खिलाफ़ भी बड़ी कामयाबी हासिल करेंगे।