उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर वाराणसी में हैं। वह कल शाम यहां पहुंचे। उन्होंने पहुंचते ही सबसे पहले BHU में स्थित अस्पताल की स्थिति की जानकारी ली और सुविधाएं बढ़ाने और दुरुस्त करने का निर्देश दिया। हाल के दिनों में आत्महत्या और रहस्यमय तरीके से मरीज के लापता होने और बाद में लाश मिलने के विवादों में घिरे बीएचयू स्थित सर सुंदरलाल अस्पताल पहुंचे योगी ने अधिकारियों के साथ बैठक भी की।


बीएचयू सेंट्रल ऑफिस में मीटिंग के दौरान सीएम ने सुसाइड को लेकर चर्चा की। बीएचयू अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर एसके माथुर के मुताबिक सीएम योगी इसे लापरवाही नहीं बल्कि हादसा मानते हैं। बैठक में इस बात पर जोर दिया गया है कि हम विभिन्न संस्थानों को भी प्रशिक्षित करें।लोगों को भी प्रशिक्षित करें और अपनी सुविधाओं को भी अधिक से अधिक बढ़ाएं। क्रिटिकल केयर की सुविधाओं को और भी बढ़ाने की बात कही गई है।

चिकित्सा अधीक्षक एसके माथुर ने मीडिया से बात करते हुए यह भी कहा कि कोरोना काल मे जब कई अस्पतालों में अन्य बीमारियों का इलाज और कई तरह के ऑपेरशन बंद थे उस दौर में बीएचयू में स्थिति को काफी अच्छे तरीके से संभाला है।सीसीटीवी कैमरे अस्पताल के हर वार्ड में लग चुके हैं और मरीजों को पीएम की इच्छा के अनुसार अखबार भी उपलब्ध कराया जा रहा है।