गोरखपुर से बीजेपी सांसद रवि किशन इन दिनों चर्चा में है। चर्चा में होने मि वजह है अपनी ही पार्टी के विधायक से इस्तीफा मांगना। दरअसल इन दिनों गोरखपुर बीजेपी में सब ठीक है, ऐसा लग नही रहा। काफी दिनों से अंदरखाने चल रहा विवाद अब सामने आ गया है। गोरखपुर सांसद और विधायक दोनो के आपसी कलह को लेकर चर्चाओं का दौर भी जारी है। सांसद के इस्तीफा मांगने के अलावा पार्टी ने भी विधायक से स्पष्टीकरण मांगा है।


गौरतलब है कि सांसद रवि किशन ने विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल पर आरोप लगाया था कि वह सरकार और पार्टी विरोधी बयान देकर जनता को भ्रमित कर रहे हैं। उन्होंने अनाप-शनाप बयान देकर सरकार और पार्टी की छवि को भी धूमिल करने के आरोप लगाते हुए कहा था कि अगर पार्टी के नीतियों और सिद्धांतों से राधा मोहन दास अग्रवाल को इतनी दिक्कत है तो वह पार्टी से इस्तीफा दे दें।


इस पूरे वैवद पर नजर रखने वाले सूत्र बताते हैं कि यह पूरी लड़ाई एक सड़क को लेकर शुरू हुई थी। यह सड़क सैलून से उपेक्षित थी और रवि किशन ने ही इसे बनवाया था। हालांकि सड़क ऊंची बनने के बाद आसपास के कॉलोनी में पानी जमने लगा और विधायक जी इसे मुद्दा बना उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य तक पहुंच गए और इंजीनियर को सस्पेंड करने की मांग कर डाली।

हालांकि उनकी यह बात नही सुनी गई क्योंकि इंजीनियर के पक्ष में कई विधायक और सांसद खुद थे। इसी को लेकर कहा जा रहा कि वैवद गहराया और विधायक सरकार पर हमलावर हुए। विधायक का एक ऑडियो भी वायरल है जिसमे वह अपनी ही पार्टी और सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाते सुनाई पड़ रहे हैं