केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने JEE और NEET परीक्षा के टाले जाने को लेकर अब एक अहम और बड़ा बयान दिया है। शिक्षा मंत्री निशंक का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब आज सोनिया गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित गैर बीजेपी शासित राज्यों की मुख्यमंत्रियों की इस मुद्दे पर बैठक होनी है और कई बड़े विपक्षी दल के नेता इन परीक्षाओं को टालने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख चुके हैं।


डीडी न्यूज को दिए एक साक्षात्कार में निशंक ने कहा है कि “JEE के लिए उपस्थित होने वाले 80 प्रतिशत छात्र पहले ही एडमिट कार्ड डाउनलोड कर चुके हैं। हम माता-पिता और छात्रों के लगातार दबाव में हैं, वो पूछ रहे हैं कि हम JEE और NEET की अनुमति क्यों नहीं दे रहे हैं। छात्र बहुत चिंतित थे। उनके दिमाग में यह चल रहा था कि वे कितने समय तक सिर्फ तैयारी जारी रखेंगे? JEE के लिए पंजीकृत 8.58 लाख छात्रों में से 7.25 लाख उम्मीदवारों ने अपने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिए हैं … हम छात्रों के साथ हैं। उनकी सुरक्षा पहले हो, फिर उनकी शिक्षा।”

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के बीच परीक्षा आयोजित कराने कोa लेकर सरकार लगातार विपक्ष के निशाने पर है। छात्र भी लगातार सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर अपनी आवाज़ बुलंद करते हुए इन परीक्षाओं को टालने की मांग कर रहे हैं। आपको बता दें कि JEE Mains परीक्षा एक सितंबर से छह सितंबर तक आयोजित की जाएगी, जबकि NEET 2020 की परीक्षा 13 सितंबर को होगी। शिक्षा मंत्री के इस अहम बयान के बाद यह लगभग स्पष्ट है कि परीक्षाएं निर्धारित तिथि पर हो जाएंगी और अब इनके टलने की उम्मीद कम है।