कांग्रेस में बदलाव की एक चिट्ठी क्या आई पहले से कमजोर पार्टी में कलह और ब्लेम गेम का नया दौर शुरू हो गया। यह वैवद राहुल के उस तथाकथित बयान के बाद और गहरा गया जब उन्होंने कहा कि चिट्ठी लिखने वाले नेताओं की बीजेपी से सांठगांठ है। हालांकि सोनिया ने कांग्रेस वर्किंग कमिटी के बैठक से पहले और बैठक के दौरान डैमेज कंट्रोल की भरसक कोशिश की लेकिन यह मामला अब हाथ से निकलता दिख रहा है।


कल कांग्रेस की वर्किंग कमिटी के बैठक और सोनिया के अंतरिम अध्यक्ष पद को संभालने की सहमति और राहुल गांधी के यह कहने पर की उन्होंने ऐसा कोई बयान नही दिया, यह बवाल थमता नजर आ रहा था लेकिन कल रात चिट्ठी लिखने वाले वरिष्ठ नेताओं की अलग से बैठक और उसके बाद अब कपिल सिब्बल के नए ट्वीट ने इस वैवद को जैसे हवा दे दी है।


मंगलवार को कपिल सिब्बल ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘यह किसी पद के बारे में नहीं, यह मेरे देश के बारे में जो सबसे अहम है।”कपिल के इस ट्वीट के बाद आकलन और अनुमान का दौर शुरू हो गया है और हर कोई अब इस चर्चा में डूबा है कि आखिर उनका इशारा किस तरफ है? इससे पहले कल कपिल सिब्बल ने अपने ट्वीट में साठगांठ के आरोप पर पार्टी के लिए अपने योगदान को गिनाया था। हालांकि बाद में उन्होंने अपना ट्वीट यह करते हुए डिलीट कर दिया कि राहुल गांधी से उनकी बात हुई है उन्होंने ऐसा कोई बयान दिया ही नही है।