पाकिस्तान के तीन बार प्रधानमंत्री रहे नवाज शरीफ को उनकी ही देश की सरकार ने अब भगोड़ा घोषित कर दिया है। इसके साथ ही पाक की इमरान सरकार ने ब्रिटेन से नवाज के प्रत्यर्पण की अपील भी की है। आपको बता दें कि नवाज शरीफ और उनका परिवार पाकिस्तान में भ्रष्टाचार के कई मामलों में दोषी पाए गए थे। इसके बाद एक अदालत ने उन्हें कैद की सजा सुनाई थी।


इस बारे में जानकारी देते हुए पाकिस्तान के जवाबदेही एवं आंतरिक मामलों पर पाकिस्तानी पीएम के सलाहकार शहजाद अकबर ने कहा कि मेडिकल आधार पर शरीफ को मिली चार हफ्तों की जमानत की अवधि दिसंबर में समाप्त हो चुकी है। सरकार अब उन्हें एक भगोड़ा मान रही है और ब्रिटेन सरकार को इस बाबत एक अनुरोध भेजा जा चुका है।


गौरतलब है कि इससे पहले पिछले हफ्ते अपने वकील के माध्यम से नवाज शरीफ ने कोर्ट को बताया था कि कोरोना महामारी के चलते चिकित्सकों ने उन्हें पाकिस्तान न लौटने की सलाह दी है। ऐसे में वह देश वापस आने में असमर्थ हैं। नवाज ने अपनी बीमारी के बारे में जानकारी देते हुए यह भी कोर्ट को बताया था कि वह किडनी, शुगर, हृदय और रक्तचाप जैसी कई समस्याओं का सामना कर रहे हैं।


हालांकि पाकिस्तान सरकार ने सोशल मीडिया पर वायरल हुई उनकी एक तस्वीर को आधार बनाते हुए कहा कि वह ठीक हैं और उन्होंने फर्जी मेडिकल रिपोर्ट्स जमा कराई हैं। इस तस्वीर में नवाज अपने बेटे हसन नवाज के साथ हाथ मे छाता लिए सड़कों पर टहलते दिख रहे हैं। पाकिस्तान सरकार के इस बयान पर शरीफ की बेटी ने इसे आधारहीन बताया और कहा कि उनके पिता अत्यधिक जोखिम ग्रस्त रोगी हैं और इस महामारी के दौर में आना ठीक नही है।