कांग्रेस में हर स्तर पर बदलाव किए जाने की मांग करते हुए 23 नेताओं द्वारा लिखी गई चिट्ठी पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का बयान अब सामने आया है। यह बयान कांग्रेस के लिहाज से न सिर्फ अहम है बल्कि इससे यह स्पष्ट होता है कि आने वाले वक्त में बतौर अध्यक्ष सोनिया गांधी नजर नही आएंगी। वह पहले भी इसी शर्त पर अंतरिम अध्यक्ष बन पार्टी संभालने को तैयार हुओं थी कि पार्टी एक साल के भीतर अपना पूर्णकालिक अध्यक्ष ढूंढ लेगी। हालांकि अब इस महीने साल भर पूरा होने के बाद भी कांग्रेस को नया और पूर्णकालिक अध्यक्ष नही मिला है।


कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सोनिया ने पार्टी नेताओं से कहा है कि सब मिलकर नया अध्यक्ष चुनें। साथ ही सोनिया ने अब आगे इस पद को संभालने में अपनी असमर्थता भी जताई है।गौरतलब है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने 2019 में हुए आम चुनाव में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था और उसके बाद सोनिया गांधी को दोबारा अध्यक्ष बनाया गया। अब दोबारा राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग जोर पकड़ रही है। हालांकि उनकी तरफ से अभी कोई प्रतिक्रिया नही आई है। उम्मीद है सोमवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी में इससे जुड़ी तस्वीर ज्यादा साफ होगी।