बिहार में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। निर्वाचन आयोग ने कोरोना महामारी के इस दौर में चुनाव से संबंधित गाइडलाइंस भी जारी कर दी है और इसके साथ ही राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप से लेकर दल बदल और चुनावी सुगबुगाहट भी तेज हो गई है। एक दूसरे पर जम कर निशाना साधा जा रहा है वहीं मुद्दों के लिए जनता की नब्ज टटोलने के साथ संभावित प्रत्याशी की भी खोज हर दल में शुरू हो गई है।


इसी बीच बिहार एनडीए से आज एक बड़ी खबर आई है। यह खबर यह है कि बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि जदयू-लोजपा-बीजेपी मिलकर चुमाव लड़ेंगे। नड्डा के इस बयान के बाद उन कयासों पर फिलहाल विराम लग गया है जिसमे अनुमान लगाया जा रहा था कि लोजपा और जदयू की बढ़ती तल्खी और चिराग पासवान द्वारा सीधे नीतीश कुमार की आलोचना करने के बाद लोजपा एनडीए से खुद को अलग कर सकती हैं। हालांकि यह भी एक तथ्य है कि राजनीतिक दल सब ठीक दिखाने और होने की बात करते रहे हैं लेकिन ऐन मौके पर पासा पलट जाता है। ऐसे में देखना होगा कि नड्डा की इस बात में कितना दम है।