आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरूवार को स्वच्छता सर्वेक्षण- 2020 के नतीजे जारी किए हैं. नतीजों के सामने आते ही बिहार की राजनीति गर्मा गई है. दरसल नतीजों के अनुसार 10 लाख से अधिक जनसँख्या वाले शहरो में स्वछता के मामले में पटना ने टॉप किया है, मगर नीचे से. यानि सीधा सीधा कहें तो बिहार की राजधानी को सफाई के मामले में सबसे पिछड़ा हुआ माना गया है. इस जानकारी के सार्वजनिक होते ही बिहार सरकार को लोगों ने कटघरे में खड़ा कर दिया है.

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने पटना के हालात पर गुस्सा जाहिर करते हुए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की है जिसमें उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी को लताड़ा है. ट्वीट में लालू यादव ने कहा- ‘का हो नीतीश-सुशील? इसका दोष हमें नहीं दोगे क्या? शर्म तो नहीं आ रही होगी इस कथित सुशासनी और विज्ञापनी सरकार के लोगों को?’

इस मामले पर लालू के बेटे तेजस्वी यादव ने भी बिहार सरकात को घेरा है. उन्होंने ट्वीट करके तंज  कसा- “देश में पटना को गंदगी में नंबर-1 स्थान मिलने पर 15 वर्षों के माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी को कोटि-कोटि बधाई. चलिए 15 वर्षों में कहीं तो नंबर-1 स्थान प्राप्त किया.” बतादें की अक्टूबर-नवंबर में बिहार में विधानसभा चुनाव होने है.