हवा में भी प्रधानमन्त्री मोदी की सुरक्षा को फुलप्रूफ बनाने के लिए अगले हफ्ते भारत में एअर इंडिया वन लैंड करेगा. अत्याधुनिक तकनीक से लैस इस विमान को अमरीका के राष्ट्रपति के विमान एयरफोर्स वन की तर्ज़ पर बनाया गया है. VVIP सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने विशेष रूप से दो चौड़ी बॉडी के बोइंग 777-300ERs तैयार करवाए है. एक विमान प्रधानमंत्री के लिए होगा और दूसरा राष्ट्रपति के लिए.

बात करे एअर इंडिया वन की तो इस विमान का अपना मिसाइल डिफेंस सिस्टम, सेल्फ प्रोटेक्शन सूट है जो दुश्मन देश के रडार फ्रेंक्वेंसी को जाम कर सकते हैं. इस विमान के अंदर एक कॉन्फ्रेंस रूम, वीवीआईपी यात्रियों के लिए एक ​केबिन, एक मेडिकल सेंटर और साथ ही साथ अन्य गणमान्य व्यक्तियों, स्टाफ के लिए सीटें होंगी. इस विमान पर अशोक चक्र के साथ भारत और इंडिया भी ​लिखा होगा. यह विमान एक बार ईंधन भराने के बाद लगातार 17 घंटे तक उड़ान भर सकेगा. अभी वीवीआई बेड़े में जो विमान हैं, वे सिर्फ 10 घंटे तक ही लगातार उड़ सकते हैं. दोनों विमान एक तरह से मजबूत हवाई किले की तरह हैं. इनकी खरीद पर करीब 8,458 करोड़ रुपये की लागत आएगी.  बतादें की विमान को भारत लाने के लिए एक दल पहले ही अमेरिका पहुंच चुका है.