दिल्ली पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम ने चीन एक नागरिक तसाओ लुंग उर्फ चार्ली पेंग (39) को जासूसी और हवाला रैकेट चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है. चार्ली पिछले 7 साल से नाम बदलकर भारत में रह रहा था.

चार्ली पेंग पर आरोप है की उसने चीनी नागरिकों के साथ मिलकर कुछ शेल कम्पनिया बनायीं और करीब 1000 करोड़ रुपए का हवाला का कारोबार किया. आयकर विभाग की पूछताछ में ये बात सामने आयी है की उसने मणिपुर की लड़की से शादी भी की है. यही नहीं उसके पास भारत का फ़र्ज़ी पासपोर्ट और आधार कार्ड भी है.

पूछताछ में ये बात भी सामने आयी है की चार्ली ने चीनी ख़ुफ़िया एजेंसी के कहने पर दलाई लामा के बारे में जानकारी भी जुटाने की कोशिश की. उसने दिल्ली स्थित मजनू के टीले में रह रहे तिब्‍बत के लोगों को घूस देने की कोशिश की जिसमें लामा और भिक्षु भी शामिल है. यही नहीं, चार्ली ने हिमाचल प्रदेश में दलाई लामा की टीम में घुसपैठ की कोशिश भी की थी.

मिली जानकारी के अनुसार चार्ली 2014 में नेपाल के रास्ते भारत आया था. फिर उसने फ़र्ज़ी पासपोर्ट और आधार कार्ड बनवाया. हवाला रैकेट को चलाने के लिए ‘WE CHAT’ नाम की ऐप का इस्तेमाल करता था. इससे 2018 में भी दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था मगर वह ज़मानत पर छूट गया था. फिलहाल आयकर विभाग ने चार्ली से जुड़े सारे बैंक खातों को सील कर दिया है और जांच जारी है.