दिल्ली की लाइफ लाइन कही जाने वाली मेट्रो अब जल्द ही फिर से पटरियों पर दौड़ती हुई नज़र आएगी. DMRC ने मेट्रो फिर से परिचालन को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली  है. अब सिर्फ केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलने की देरी है. DMRC के जनसम्पर्क अधिकारी के अनुसार कोरोना से निपटने के लिए DMRC ने सभी इंतज़ाम कर लिए है. उन्होंने ये भी कहा की मेट्रो सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करेगा. यात्रियों के लिए एक सीट छोड़कर दूसरी सीट पर बैठने की सुविधा होगी. मेट्रो शुरू होने पर फिलहाल क्षमता से 50 प्रतिशत यात्री ही सफर कर पाएंगे.

 मेट्रो में सफर करने वाले लोगों के लिए मास्क पहनना और फ़ोन में आरोग्यसेतु ऐप होना अनिवार्य होगा. प्रत्येक मेट्रो स्टेशन में प्रवेश से पहले थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था होगी. यात्रा से पहले अगर किसी भी यात्री को कोरोना के लक्षण दिखे तो उससे यात्रा से रोक दिया जाएगा. मेट्रो स्टेशन में प्रवेश से पहले हाथों को सेनेटाइज़ करना अनिवार्य होगा.

 वही दूसरी तरफ मेट्रो अपने यात्रिकों के लिए जल्द ही नई सौगात लेकर आने वाली यही. दिल्ली मेट्रो में यात्री किराये का भुगतान डेबिट और क्रेडिट कार्ड से कर पाएंगे. इसके लिए उन्हें अलग से मेट्रो कार्ड या टोकन नहीं लेना पड़ेगा. DMRC ने इसके लिए ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम को अपडेट करना शुरू भी कर दिया है. इसके लिए टेंडर भी जारी कर दिया गया है.

DMRC ने बताया की अगर सब कुछ ठीक रहा तो आने वाले 2 साल के अंदर अंदर ये सुविधा शुरू हो जाएगी.  कॉन्टेक्ट लेस सिस्टम के साथ डिजिटाइजेशन को बढ़ावा देने के मकसद से डीएमआरसी ने यह फैसला लिया है.  इसके तहत पूरे फेयर कलेक्शन सिस्टम को पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल) के साथ इंटीग्रेट किया जाएगा.  टिकटिंग मशीन को भी पीओएस मशीन के साथ इंटीग्रेट करेंगे, जिससे स्मार्ट कार्ड को डेबिट और क्रेडिट कार्ड से रिचार्ज कराने में भी आसानी होगी.

यही नहीं, अब यात्री आने वाले समय में जुर्माने का भुगतान में डेबिट और क्रेडिट कार्ड के जरिये कर पाएंगे. अभी तक स्मार्ट कार्ड में पैसा होने के बाद भी आपको कैश देकर ही जुर्माना भरने का प्रावधान था.