आपकी थाली तक पहुंचा कोरोना, चिकन खाने वाले हो जाएं सावधान, चीन से आई बुरी खबर

ब्राज़ील से चीन पहुंची चिकन की जब कोरोना जांच हुई तो उसमें वायरस की पुष्टि हुई है।

the poultry processing in food industry. Deboning chicken.

कोरोना महामारी से दुनिया के तमाम देश परेशान हैं। लाखों लोग इस महामारी के वजह से काल के गाल में समा गए वहीं करोड़ो लोग अब भी इस वायरस से संक्रमित हैं। हर दिन हज़ारों लोग दुनिया भर में इस वायरस की वजह से जान गंवा रहे हैं। इस बीमारी का अभी तक न कोई ठोस इलाज है न ही इससे निपटने को लेकर कोई खास योजना। हालांकि इन सब के बीच रूस ने कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा कर थोड़ी राहत जरूर दी है। बेशक यह भी सवालों के घेरे में है।

अब बात करते हैं कोरोना के नए खतरे की। कोरोना मि पहुंच अब आपकी थाली तक हो गई है। दरअसल हुआ यूं कि ब्राज़ील से चीन पहुंची चिकन की जब कोरोना जांच हुई तो उसमें वायरस की पुष्टि हुई है। इसके बाद चीन में एडवाईजरी जारी की है और इससे सावधान रहने की बात कही है। चिकन के अलावा इक़्वाडोर से आये झींगे में भी इस खतरनाक की पुष्टि हुई है।

चीन में शेन्झेन शहर में फ्रोजेन फ़ूड जैसे चिकन और झींगे में कोरोना की पुष्टि होने के बाद ये एडवाइजरी जारी की गई है। चीन में विदेश से मंगाए जानेवाले समुद्री फूड और मांस की स्क्रीनिंग को जून से लाजिमी कर दिया गया है। उसी के तहत स्थानीय सेंटर में चिकन के पंखों की सतह से सैंपल लिया गया। सैंपल के कोरोना जांच में पॉजिटिव होने की पुष्टि के बाद हड़कंप मच गया।

शेन्झेन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने संक्रमण के संदिग्ध सामान के संपर्क में आए सभी लोगों को ट्रेसकिया।यहां तक कि संक्रमित पैकेट के पास रखे गए अन्य उत्पादों को भी कोरोना जांच के लिए भेजा गया। हालांकि जांच के बाद अन्य उत्पादों के सभी नतीजे निगेटिव आए।

आपको बता दें कि विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वायरस फूड या फूड पैकेजिंग पर भी घुसपैठ करने की क्षमता रखता है। मगर ये कमरे के तापमान पर लंबे समय तक बच जीवित नहीं रह सकता यह इस मामले में राहत की बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.