दुनिया भर के देशों के कोरोना से निपटने की जद्दोजहद और वैक्सीन बनाने की होड़ के बीच रूस ने आखिरकार कोरोनावायरस की दुनिया की पहली वैक्सीन लॉन्च कर दी है। यह बड़ा ऐलान रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने खुद किया है।पुतिन ने बताया कि कोरोना वायरस के दुनिया के पहले टीके को रूस में मंजूरी मिल गई है।

पुतिन के मुताबिक, ऐसा हेल्थ मिनिस्ट्री के अप्रूवल के बाद ही किया गया है।पुतिन ने यह भी बताया कि यह कोरोना टीका सबसे पहले उनकी बेटी को ही लगाया गया है। पुतिन के इस कदम को बड़ा कदम माना जा रहा है।  ऐसा इसलिए भी है क्योंकि रूस के वैक्सीन बनाने के दावों के बीच डब्लूएचओ और अमेरिका के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सवाल खड़े किए थे।

रूस पहले ही बता चुका था कि उसकी वैक्सीन तैयार है। बता दें कि रूस के मॉस्को में एक मॉस्को गामलेया इंस्टिट्यूट है, उसने इस कोरोना वैक्सीन को बनाया है। इस वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन अगले महीने शुरू किया जाएगा वहीं अक्टूबर से यह वैक्सीन सभी रूसी नागरिकों को दी जाएगी।