राजस्थान के जोधपुर जिले में पाकिस्तान के हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्य रविवार सुबह एक खेत में मृत पाए गए। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि परिवार का एक सदस्य जीवित पाया गया है लेकिन उसे इस घटना के बारे कोई जानकारी नही है। यह लोग देचु इलाके के लोदता गांव में एक झोंपड़ी में रहते थे। मौत की वजह के बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है लेकिन ऐसा लग रहा है कि परिवार के सभी सदस्यों ने रात में कोई रसायन खाकर आत्महत्या की है।

परिवार के सभी सदस्य भील समुदाय के पाकिस्तान के हिंदू शरणार्थी थे और गांव में खेत में रह रहे थे जिसे उन्होंने खेतीबाड़ी के लिए बटाई पर लिया था। मिली जानकारी के मुताबिक किसी मुद्दे को लेकर परिवार के लोगों के बीच विवाद था। झोंपड़ी के आसपास किसी रसायन की बदबू आ रही थी जिससे लगता है कि उन्होंने कुछ खाया है। किसी के भी शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं हैं और न ही किसी तरह की साजिश के सबूत हैं लेकिन हमने फॉरेंसिक टीम और श्वान दल बुलाया है। मौत के कारणों की पुष्टि जांच के बाद ही हो सकेगी।