दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। सभी जानते हैं कि यह वायरस चीन के वुहान से निकल कर तेजी से पूरी दुनिया मे न सिर्फ फैला बल्कि एक महामारी का रूप ले लिया। इस वायरस से लाखों लोग अभी तक अपनी जान गंवा चुके हैं वहीं दिन प्रतिदिन संक्रमितों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है। कई देशों की आबादी और अर्थ्यवस्था को तबाह कर चुके इस वायरस को लेकर चीन के बड़े देशों की नाराजगी झेल चुका है। 

कोरोना के बाद अब एक नए वायरस ने चीन में दस्तक दी है। इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं 50 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं। इस वायरस की जानकारी चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने खुद दी है। टिक-जनित इस बीमारी के भी संक्रमण यानि एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने की आशंका व्यक्त की गई है। चीन में इस बीमारी को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।

खबरों के मुताबिक पूर्वी चीन के जिआंगसु प्रांत में इस साल के शुरुआती 6 महीनों के दौरान इस वायरस की चपेट में 37 लोग आए। इसके बाद पूर्वी चीन के अनहुई प्रांत में भी इस बीमारी से संक्रमित 23 लोग मिले। हालांकि इससे पहले भी यह एसएफटीएस (SFTS) वायरस चीन में 2011 में डिटेक्ट किया जा चुका है लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दुनिया के लिए यह वायरस चिंता का बड़ा सबब बन सकता है।