15 अगस्त 1947 वह दिन था जिस दिन भारत के लोगों के लिए वह सुनहरा अध्याय लिखा गया जिसके लिए हजारों लाखों लोगों ने अपनी आहुति दी,जिसके लिए 200 सालों तक हर भारतीय ने संघर्ष किया।आज हम इन्ही बलिदानों और संघर्षों के भरोसे मिली आज़ादी की 70 वीं सालगिरह मना चुके हैं।इस आज़ादी,बलिदान और संघर्ष की कहानी में अनेक पात्र शामिल हुए जिन्होंने हमे यह मौका दिया लेकिन उनके अलावा भी सैकड़ों ऐसे भारतीय हुए जिन्होंने इसे आगे बढ़ाया और संजोया संवारा।आइए आज ऐसे ही 10  भारतीयों के बारे में जानें जिनपर हर भारतीय नागरिक को गर्व है,जिन्होंने भारत का डंका पूरी दुनिया मे बजाया,जिन्होंने अपने मेहनत और लगन से हर क्षेत्र में भारत का लोहा मनवाया।

1 महात्मा गांधी-

दुनिया को अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले और बिना खड़ग बिना ढाल आज़ादी देने वाले भारत के राष्ट्रपिता के योगदान पर न सिर्फ हर भारतीय बल्कि दुनिया मे अहिंसा को मानने वाले हर इंसान को गर्व है।

2 भगत सिंह-

आज हर युवा के प्रेरणा और भारत की आज़ादी के लिए हंसते हंसते कुर्बानी देने वाले वहः शख्शियत जिनकी सहादत ने आज़ादी की लड़ाई को नया पैनापन और नई धार दी।इनपर हर भारतीय को गर्व था  है और रहेगा।

3 चंद्रशेखर आज़ाद-

भारत की स्वतंत्रसंग्राम के वहः वीर जिन्होंने अंग्रेजों की गुलामी कभी नही स्वीकारी,जो जिंदा भी आज़ाद रहे और जिनकी मौत भी आज़ादी का नया इतिहास लिख धनेश के लिए अमर हो गई।जिनका जुनून और ज़िद भारत की आज़ादी थी।वहः नाम है चंद्रशेखर आज़ाद का।

4 सरदार बल्लभभाई पटेल-

आज़ादी के बाद भारत को एक सूत्र में पिरोने वाले सरदार जिन्हें लौह पुरुष कहा गया,जिनके इरादे लोहे की तरह मजबूत थे और जो अलग अलग रियासतों में बंटे भारत को एक सूत्र में पिरोने वाले सूत्रधार थे उन्हें दुनिया सरदार पटेल के नाम से जानती है तभी तो आज भी कहते हैं राजनीति में सरदार पटेल जैसा सरदार मिलना मुश्किल ही है।

saaa

5 इंदिरा गांधी-

जिन्हें विपक्ष ने दुर्गा का अवतार बताया,जिन्होंने बांग्लादेश को आज़ादी दिलाई,जिन्हें सबसे ताकतवर और लोकप्रिय महिला प्रधानमंत्री कहा गया,वह इंदिरा गांधी थीं।कभी इंदिरा इस इंडिया और इंडिया इस इंदिरा का नारा गूंजता था वहः इनके नाम और काम का ही करिश्मा था।

6 लाल बहादुर शास्त्री-

छोटा कद लेकिन गजब की दृढ़ता ऐसा व्यक्तित्व था लाल बहादुर शास्त्री का,उनकी जैसे नैतिकता की कसमें राजनीति में आज भी खाइ जाती है यह अलग है कि उनकी जैसी ईमानदारी आज सोच से परे है यही वजह है कि साधारण कद काठी और व्यक्तित्व वाले प्रधानमंत्री ने अपनी अमित छाप छोड़ी और ईमानदारी ऐसी की निधन के बाद कार की क़िस्त बेटे को अदा करनी पड़ी।यूं ही इनपर गर्व नही।

7 राजीव गांधी-

भारत को संचार क्रांति में आगे बढ़ाने वाले वहः प्रधानमंत्री जिन्होंने टेलीफोन और कंप्यूटर से भारत को रूबरू कराया,जिन्हें अपनी ईमानदारी और दृढ़ निश्चय की वजह से जान से हाथ धोना पड़ा।वहः राजीव गांधी थे।

es

8 अटल बिहारी वाजपेयी-

भारत की राजनीति के ऐसे शिखर पुरुष जिनकी पहचान एक प्रखर वक़्ता,राष्ट्रवादी नेता,कवि और परिपक्व राजनीति की थी।जिन्हें किसी भी प्रधानमंत्री से ज्यादा लोकप्रियता और सम्मान मिला।जिन्हें दोस्ती और दुश्मनी निभाने में महारत हासिल थी ऐसे महान् प्रधानमंत्री थे अटल इरादों वाले आदरणीय वाजपेयी जी।

9 ए पी जे अब्दुल कलाम-

भारत के शीर्ष नागरिक यानी राष्ट्रपति बने,जिन्होंने भारत को परमाणु शक्ति सम्पन्न बनाया,जिन्हें आम लोगों का राष्ट्रपति कहा गया वहः नाम था अब्दुल कलाम का,जो बच्चों में प्यारे थे बड़ों के दुलारे थे,गरीबी के मारे थे लेकिन आज भी जिनका नाम धरती से लेकर आसमान के क्षितिज तक देदीप्यमान नक्षत्र के समान अलौकिक है उनपर भला किसे गर्व नही होगा।

pj

10 नरेंद्र दामोदरदास मोदी-

भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री,जिनके नाम का डंका आज पूरी दुनिया मे बज रहा है जो भारत के सर्वाधिक लोकप्रिय प्रधानमंत्री हैं और तीन साल के अंदर ही युवाओं से लेजर महिलाओं तक देश से लेकर विदेश तक जिन्होंने भारत के नाम का और अपना डंका बजाय है उनपर भला किसे गर्व नही होगा।

pm