पाकिस्तान की नापाक हरकतें थमने का नाम नही ले रही हैं। एक ऐसी ही हरकत फिर हुई है,जिससे पूरा देश दुख और गुस्से से भर उठा है। पता नही कब हम उसे उसी की भाषा मे एक ऐसा जवाब दे पाएंगे जिससे ऐसी हरकतें बंद होंगी। पता नही कब राजनीति के आकाओं की दृढ़ इच्छाशक्ति जागेगी?

और भी न जाने कितने ऐसे सवाल हैं और यह सवाल हर एक शहादत के बाद बढ़ते जाते हैं। हालांकि इन सवालों का जवाब एक बार हमने सर्जिकल स्ट्राइक कर हर बार देने की कोशिश की है। पता नही कब 56 इंच सीने की सरकार जागेगी और कब ऐसी बर्बर नापाक हरकतों पर पाक को पटखनी देने की क्षमता आएगी।

ताज़ा मामला भारत-पाक सीमा का है। यह घटना रामगढ़ सेक्टर की है। यहां जवान अपनी सीमा में लगी बाड़ से आगे बढ़ कर सरकंडे की घांस काटने गए थे। इसी दौरान दिन में करीब 10 बजकर 40 मिनट पाक सेना ने कायरतापूर्ण तरीके से गोलीबारी शुरू कर दी। यथाउचित जवाब भारत के वीर जवानों ने दिया लेकिन पाक रेंजर्स की गोली से एक जवान जख्मी हो गया। बाकी जवान जवाब देते हुए सकुशल अपनी सीमा में आ गए लेकिन एक घायल जवाब वहीं छूट गया। बाद में तलाशी अभियान चलाया गया।

हालांकि शव देर रात बरामद हुआ और जिसने भी देखा वह सिहर उठा। मीडिया की खबरों के अनुसार जवान के शव के साथ बर्बरता की सभी हदें पार कर दी गई थी। जवान की टांगें कटी हुई थी, आंखें निकाल ली गई थी, शरीर पर करंट से झुलसने के निशान थे और तीन गोलियां भी मारी गई थी। ऐसे में सवाल यह है कि क्या मानवता और इंसानियत भी पाक के अंदर बिल्कुल नही बची है? क्या शैतान को भी मात देने पर तुली है पाकिस्तानी सेना। कब माकूल जवाब देगा भारत? जवान को हमारी तरफ से श्रद्धांजलि और उनकी वीरता को आकाश भर नमन।