राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूँ तो राजनीति में एक दूसरे के धुर विरोधी हैं। दोनो एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने का कोई मौका नही गंवाते लेकिन इन दो नेताओं में एक बात ऐसी है जो मेल खाती है। यह बात है दोनो नेताओं का अपनी-अपनी माँ के प्रति सम्मान और प्यार। राहुल जहां सोनिया के लाडले हैं वहीं मोदी भी कोई ऐसा मौका नही छोड़ते जहां माँ से मिलने की बात आती है। मोदी जहां अपनी माँ के संघर्ष की कहानी अमेरिका में फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के पूछने पर पूरी दुनिया को भावुक अंदाज़ में सुना चुके हैं। वहीं राहुल ने कई मौकों पर यह जता दिया कि वह अपनी माँ के कितने नजदीक हैं और कितना प्यार करते हैं।


आज कांग्रेस के राष्ट्रीय अधिवेशन के दौरान जब सोनिया अपने भाषण को खत्म कर मंच से नीचें उतरी तो राहुल ने उन्हें भावुक अंदाज़ में गले लगा लिया। राहुल ने किसी सार्वजनिक मंच से यूँ तो यह कारनामा कोई पहली बार नही किया लेकिन इस पल ने सब का दिल जीत लिया। आपको बता दें कि इससे पहले अध्यक्ष के तौर पर अपनी ताजपोशी के दौरान भी राहुल ने इसी अंदाज में माँ के प्रति प्यार और सम्मान दिखाया था।


अगर बात पीएम मोदी की करें तो लोकसभा चुनाव में मिली जीत के बाद अपनी माँ से मिलने की बात हो या अपने जन्मदिन पर हर साल माँ के पैर छू आशीर्वाद लेने की, मोदी यह कभी नही भूलते। इसके अलावा जब उनकी माँ प्रधानमंत्री आवास आईं थी तब मोदी अपनी माँ का ध्यान खुद रखते थे और तस्वीरें खूब वायरल हुई थी। ऐसे में दिन रात राजनीति और सार्वजनिक जीवन मे व्यस्त रहने वाले इन दो नेताओं का माँ के प्रति अगाध प्यार आज की पीढ़ी के लिए एक प्रेरणा है।