प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी खासियत उनकी आक्रामक भाषण शैली है। श्रोताओं को बांधने और विरोधियों पर हमला बोलने की उनकी शैली सबसे अलग है। यही वजह भी है कि मोदी के भाषण को सुनने भीड़ उमड़ पड़ती है और इसका असर भी लोगों पर जबरदस्त रूप से पड़ता है। यही शैली अब राहुल अपनाने की कोशिश कर रहे हैं। यही वजह है कि कांग्रेस के अधिवेशन के दौरान लोगों ने एक अलग राहुल को देखा और सुना। उनकी बॉडी लैंग्वेज से लेकर भाषण तक हर जगह बदलाव साफ नजर आया। ऐसे में यही कहा जा सकता है कि मोदी को उन्ही के स्टाइल में अब राहुल चुनौती देने की ठान चुके हैं।


ऐसा नही है कि राहुल ने पहली बार कुछ नया करने या मोदी के स्टाइल को अपनाने का प्रयास किया है। इससे पहले भी वह ऐसा कर चुके हैं। बस ध्यान दिया हो तो आपको याद आ जायेगा। राजनीति के बारे में जानकारी रखने वाले कहते हैं कि जैसे मोदी ने विदेश में जाकर कांग्रेस के खिलाफ हमला बोला एयर कटाक्ष किया वही शैली राहुल ने भी अपनाई है। यही वजह है कि अमेरिका से लेकर बहरीन और मलेशिया से लेकर सिंगापुर तक वह मोदी सरकार और उसकी नीतियों पर खूब बरस चुके हैं। ऐसे में अब देखना यह है कि क्या मोदी को उन्ही के स्टाइल में जवाब देने की राहुल की यह रणनीति सफल होती है।