देश को हिला कर रख देने वाले दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप कांड के आरोपियों में से एक राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी। इसके पीछे की वजह तो सामने नही आई, न किसी ने जानने में कोई दिलचस्पी दिखाई क्योंकि आज नाही तो कल उसके किये गुनाहों की सजा फांसी के रूप में उसे भी मिलती जैसे बाकी अन्य आरोपियों को मिली है। हालांकि इस आत्महत्या के बाद तिहाड़ जेल की सुरक्षा पर सवाल जरूर खड़े हो गए थे।

राम सिंह के आत्महत्या करने के बार जारी एक बयान में जेल अधिकारियों ने कहा था कि उसका व्यवहार काफी हिंसक था, उसके हाव भाव तुरंत बदल जाते थे और कब वह क्या करे यह समझ से परे था।कुल मिलाकर उसमे आत्महत्या की प्रवृति पहले से थी यही वजह है कि उसने आत्महत्या की थी। उसके साथ इस जघन्य अपराध में शामिल अन्य आरोपी अब भी जेल में बंद होकर अपनी फांसी का इंतजार कर रहे हैं।