बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्रियों के जीवन की उत्तर चढ़ाव की घटनाओं के बारे में अक्सर पढ़ते और सुनते रहते हैं। इनमे से कुछ घटनाएं जहां झकझोरने वाली होती हैं वहीं कुछ प्रेरणादायक बन जाती हैं। किसी मे संघर्ष की कहानी होती है तो किसी मे जिंदगी से हारने की, कुल मिलाकर समय का पहिया हर किसी के लिए बदलता रहता है और कहते भी हैं सब दिन होत न एक समान। आज ऐसी ही एक घटना के बारे में हम आपको बताएंगे जो 60 और 70 के दशक की मशहूर अभिनेत्री आशा पारेख से जुड़ी हुई है।

अभिनेत्री आशा पारेख को उनके दमदार अभिनय के लिए जाना जाता है, उनके नाम से फिल्मों के हिट होने की गारन्टी एक जमाने मे दी जाती थी लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक ऐसा वक़्त भी था,जब यह अभिनेत्री जिंदगी में बिल्कुल अकेली पड़ गईं थी और अवसाद से घिर गेन थी। उनके मन मे आत्महत्या के ख्याल आने लगे थे? इस बात का खुलासा उन्होंने हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान किया था। उन्होंने बताया कि जब उनके माता पिता का निधन हुआ तब वह बिल्कुल अकेली पड़ गईं, जीवन की राह कठिन लगने लगी और अकेलापन हावी होने लगा ऐसे में वह डिप्रेशन में चली गईं और आत्महत्या के ख्याल आने लग गए। हालांकि बाद में डॉक्टरी सलाह और मजबूत इरादों के साथ जीने की चाह ने राह दिखाई और सब ठीक हो गया।