पीएनबी घोटाले ने देश मे सनसनी मचा कर रख दी है। हर तरफ देश के सवसे बड़े बैंकिंग घोटाले और इसके सूत्रधारों की खबरें सुर्खियां बनी हुई है। आरोपी नीरव मोदी देश छोड़ फरार हैं, विपक्ष सरकार पर हमलावर है और बैंक के साथ केंद्र सरकार मोर्चा संभालने में लगी है। खैर यह तो हुई घोटाले की बात, अब बात करते हैं इस सबसे बड़े घोटाले के सामने आने के बाद देश मे प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) की अब तक कि सबसे बड़ी कार्रवाई की।

घोटाले के सामने आने के बाद एक्टिव हुई ईडी ने देश के कई अलग-अलग हिस्सों में अपनी ताबड़तोड़ कार्रवाई में नीरव मोदी के 17 ठिकानों पर छापा मारा। इस दौरान लगभग 5100 करोड़ मूल्य के कीमती हीरे, सोना और अन्य ज्वेलरी जब्त की है।

आपको जान कर आश्चर्य होगा कि यह रकम सिर्फ बुक वैल्यू है और इसकी वाजिब कीमत इससे कहीं ज्यादा हो सकती है। साथ ही अगर कीमत बुक वैल्यू के बराबर भी हुई तो भी 11400 करोड़ के घोटाले का आधा पैसा एक दिन में रिकवर कर लिया गया है। ऐसी कार्रवाई इससे पहले कभी नही हुई है।

जांच में लगी अलग-अलग टीमों से अभी पूरा ब्यौरा निकल कर सामने नही आया है लेकिन खबरों के मुताबिक सिर्फ हैदराबाद से 3800 करोड़ की जब्ती हुई है। इसके अलावा देश के अलग-अलग हिस्सों से न सिर्फ मूल्यवान धातुएं बरामद और जब्त की गई है बल्कि नीरव मोदी के दफ्तर सहित कई अन्य ठिकानों को सील कर दिया गया।

कुल मिलाकर अगर देखा जाए तो देश भर में खलबली मचा देने वाले ऐसे कई मामले सामने आए लेकिन जैसी कार्रवाई इस मामले में हुई है वह यह बताने को काफी है कि आरोपी कोई भी हो सरकार इस बार किसी भी तरह की ढील देने या कोताही बरतने के मूड में नही है। यह शुभ संकेत है।