राजनीति

पाकिस्तान की हार और भारत की जीत के बीच छाये रहे तीन तलाक और पोखरण

iकाफी दिनों बाद आज इस ब्लॉग के माध्यम से वापसी कर रहा हूँ. अंतिम ब्लॉग कुमार विश्वास,केजरीवाल,कुलभूषण और कश्मीर को लेकर था.ऐसा बिल्कुल नहीं है कि इस दौरान कुछ नहीं हुआ या मैं इन ख़बरों से दूर था.एक पत्रकार या मीडिया से जुड़ा अदना व्यक्ति भी दिन रात ख़बरों से जूझता है लेकिन समय का अभाव सहित कई समस्याएँ भी पीछा करती रहती हैं.इन्ही सब से मै भी दो चार हो रहा था.खैर इन सब बातों का कोई महत्व नहीं न ही जिन्दगी में बिना संघर्ष आगे बढ़ने का महत्व है इसलिए अब मुद्दे पर आते हैं.आज के दिन की ही बात करें तो राज्य,देश,व्यापर,खेल और विश्व से आई कई ख़बरें सुर्खियाँ बनीं,इनपर मेरी भी करीबी नजर थी लेकिन पहले ‘जिसकी खाओ उसकी गाओ’ वाली निति के तहत अपने स्वतंत्र लेखन की प्रक्रिया को छोड़कर मैंने वह प्रक्रिया चुनी जो फिलहाल मेरा पेट भर रही है.आज दिन की बड़ी ख़बरों में तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी,कुलभूषण जाधव पर अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट का फैसला,रीमा लागू और अनिल माधव दवे का निधन,जनरल मोटर्स का भारत में अपना व्यापर समेटने सम्बन्धी ख़बरें छाई रहीं.

इन ख़बरों में मेरा ध्यान खास तौर पर तीन ख़बरों पर रहा पहला की आज भारत फिर से पोखरण में इतिहास दोहराने जा रहा था.दूसरी तीन तलाक पर आज फैसले की उम्मीद थी.और तीसरी कुलभूषण जाधव मामले में आज कोर्ट का फैसला बहुप्रतीक्षित खबर थी.तवज्जो की बात करें तो तीनों बराबर की ख़बरें थीं,तीनों देश हित में थीं.और आम जनमानस को प्रभावित करने का माद्दा रखती हैं.

मैंने प्राथमिकता के आधार पर सबसे पहले उस खबर को लिया जो देश की सीमा की निगहबानी के लिहाज से महत्वपूर्ण थी.आज ही के दिन 1974 में भारत ने पहली बार पोखरण में परमाणु परीक्षण कर दुनिया को चौंका दिया था.यह परीक्षण पोखरण के एक गाँव में किया गया था.भारत संयुक्त राष्ट्र का सदस्य न रहते हुए परमाणु परीक्षण करने वाला पहला देश बना था.इस परीक्षण को इतना गुप्त रखा गया था कि प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी के अलावा देश के रक्षा मंत्री को भी इसकी जानकारी नहीं थी.इसके सफल होने के बाद वैज्ञानिकों ने इसकी जानकारी भी कोड वर्ड का प्रयोग करते हुए दी थी.वह कोड वर्ड था बुद्धा इस स्माइलिंग.खैर यह तो हुई इतिहास की बात.अब बात करते हैं आज इतिहास दोहराने की .देश के हर नागरिक को याद होगा की बोफ़ोर्स तोप घोटाला हुआ था.तब इस घोटाले ने देश की राजनीती में भूचाल ला दिया था.तब से लेकर आजतक किसी भी तरह के तोपों की खरीद नहीं हो सकी थी.इसे लेकर सवाल भी उठने लगे थे.लेकिन आज भारत ने अमेरिका से मिली तोपों का सफल परीक्षण पोखरण में किया.इसी के साथ देश के माथे पर तीन दशकों से तोप घोटाले का लगा कलंक भी मिट गया.इस तरह आज 1974 में दोहराये इतिहास को भारत ने फिर से अंजाम तक पहुँचाया.बोफ़ोर्स को लेकर तीन दशकों से लगे ग्रहण का अंत आखिर पोखरण में हुआ.

top408-1424437643
 प्रतीकात्मक तस्वीर 

बात दूसरी खबर की करें तो तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुप्रीम बहस आज ख़त्म हो गई हालांकि सभी को फैसले का बेसब्री से इंतजार था लेकिन कोर्ट ने सुनवाई पूरी होने के बाद आज अपना फैसला सुरक्षित रख लिया.कोर्ट का फैसला गर्मी छुट्टी के बाद आने की उम्मीद है.इस सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र सरकार  की तरफ से पेश हुए अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी और आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की तरफ से कपिल सिब्बल और सलमान खुर्शीद की दलीलों को सुना.कोर्ट में यह सुनवाई मुख्य न्यायधीश जे.एस खेहर की अध्यक्षता में पांच सदस्यों वाली संविधान पीठ कर रही थी.यह सुनवाई 11 मई से शुरू हुई थी जो एक हफ्ते तक लगातार जारी रही.इस दौरान कोर्ट ने केंद्र सरकार और आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से कई तीखे सवाल भी पूछे.अब देश भर में जारी बहस के बीच कोर्ट के फैसले का इंतजार है.

मेरी उम्मीद के मुताबिक कोर्ट  तीन तलाक को संविधान के दायरे में लाने और इससे सम्बंधित कानून बनाने के आदेश दे सकती है.यह जहाँ केंद्र सरकार और तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं के लिए रमजान से पहले एक तोहफा होगा वहीँ आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के लिए धर्म के नाम में राजनीति बंद करने का आदेश होगा.

1479185785

अब बात तीसरी और आज दिन में आई सबसे बड़ी और सुखद खबर कि जिसमे इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने पाकिस्तान में फांसी की सजा पा चुके कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगाने के आदेश दिए.अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को तगड़ा झटका देते हुए अन्तर्राष्ट्रीय अदालत ने भारत की दलीलों को स्वीकार किया और कुलभूषण की फांसी पर रोक लगाने का आदेश जारी किया.कोर्ट ने माना कि पाकिस्तान ने कुलभूषण के मामले में वियना संधि का उल्लंघन किया है.कोर्ट ने पाकिस्तान को आदेश देते हुए यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि अंतिम फैसले से पहले कुलभूषण की सुरक्षा का ध्यान रखा जाए और उसे कोई भी सजा न दी जाए.कुलभूषण मामले में यह पाकिस्तान के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत की बड़ी जीत है.आतंकवाद और हिंसा के लिए अपनी पहचान बना चुका पाकिस्तान एक बार फिर झूठा साबित हुआ लेकिन रस्सी जल गई और ऐंठन नहीं गई वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए उसने अपनी भद्द पीटने का एक और मौका देते हुए कहा कि वह कोर्ट के फैसले को नहीं मानेगा.हालांकि पाकिस्तान ने कहा कि वह कोर्ट में सभी जरुरी सबूत पेश करेगा.कोर्ट से आये इस फैसले के बाद तमाम लोगों ने सरबजीत मामले में भारतीय वकील हरीश साल्वे की प्रशंसा की है.कुल मिलकर 125 करोड़ भारतीय लोगों की दुआ का असर आज दिखा और एक निर्दोष को कुछ हद तक इंसाफ मिला है.

download

पढ़ें किसने क्या कहा-

 

 

 

 

 

 

आज के दिन के बारे में कुल मिलाकर अगर देखें तो यह सुकून शांति और सुखद अनुभूति देने वाला दिन रहा.आज के दिन न सिर्फ पाक के नापाक इरादों की पोल खुली बल्कि भारत की रक्षा शक्ति और तीन तलाक के नाम पर राजनीति करने वालों को भी करार जवाब मिला.खैर अब सोता हूँ बाकी अगले लेख में.इन मुद्दों पर फिर आपके बीच आऊंगा.इज़ाज़त दीजिये.शुभ रात्रि.उम्मीद है आगे भी ऐसे सुखद पल सुनने और देखने को मिलेंगे.फैसले हमारे पक्ष और देश हित में होंगे.राजनीति इन सब के बाद होगी.देश सर्वोपरि रहेगा.

#hamari_rai #vijay

Vijay Rai
Human by Birth,Hindu by Religion,Indian by Nationality,Politics is my choice,journalism-my passion.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.