पत्रकारिता में गुनाह है लिखना?

देश में पत्रकारिता की पढाई के लिए प्रसिद्द और प्रतिष्ठित संस्थान IIMC के एक छात्र रोहिन वर्मा के निष्कासन का मामला सुर्ख़ियों में है खास कर सोशल मीडिया पर लोग अलग-अलग प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं रोहिन के निष्कासन के पीछे उनके सोशल मीडिया पर लिखे पोस्ट को बताया गया है.

रोहिन वर्मा दिल्ली यूनिवर्सिटी से राजनीती विज्ञानं की पढाई करने के बाद एक कठिन प्रतियोगी परीक्षा को पास कर,पत्रकार बनने का सपना लिए IIMC में दाखिल हुए थे लेकिन शायद इस बात से अनजान थे की उनकी लेखनी को उनका संस्थान ही बर्दास्त नहीं कर पायेगा?रोहिन पर यह आरोप लगाया गया है की ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लिखे उनके पोस्ट द्वारा कॉलेज के छात्रों को उकसाने,माहौल ख़राब करने के साथ ही उन्हें कॉलेज की छवि ख़राब करने का भी दोषी माना जा रहा है.

media

बिहार के गया ज़िले के रोहिन ने  इस मामले पर अपने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से लिखा,”IIMC ने मुझे ‘ऑनलाइन मीडिया’ पर लिखने की वजह से सस्पेंड कर दिया हैमुझे नोटिस नहीं, सस्पेंशन आर्डर थमाया गया है. अभी मैं अपना कोई पक्ष नहीं रख रहा क्यूंकि लगाये गए आरोप बहुत ही सब्जेक्टिव है. हमने आजतक ऐसा कुछ भी नहीं लिखा जो defamatory, discriminatory, harassing, threatening या obscene हैं. ऑनलाइन मीडिया पर काफी वक़्त से लिख रहा हूं लेकिन कभी सोचा नहीं था मीडिया संस्थान ही हमें लिखने के लिए सस्पेंड कर देगा. खैर, अब तो हो ही गया हूं!

गौरतलब है की इससे पहले भी रोहित वेमुला प्रकरण सुर्ख़ियों में था  लेकिन अगर यह निष्कासन बस सोशल मीडिया पोस्ट की वजह से है तो यह वाकई शर्मनाक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.